Ration Card New Update: महाराष्ट्र में राशन कार्ड धारकों को सरकारी गिफ्ट, दिवाली पर 100 रुपये में मिलेगा ग्रॉसरी पैकेज सरकार देगी खाने के पैकेट, हो गया बड़ा ऐलान

Ration Card New Update: महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में राशन कार्डधारकों को दिवाली के मौके पर 100 रुपये में किराने का सामान का पैकेट मुहैया कराने का ऐलान किया है। इस पैकेट में एक किलो रवा, मूंगफली, खाद्य तेल और पीली दाल होगी

Ration Card Holder: राशन कार्ड (Ration Card Update) धारकों के लिए बड़ी खुशखबरी है. केंद्र और राज्य सरकार (State Government) की ओर से गरीबों और राशन कार्डधारकों को फ्री राशन (Free Ration) समेत कई खास सुविधाएं दी जाती हैं. इस बार दिवाली पर राज्य सरकार ने राशन कार्ड रखने वाले लोगों के लिए बड़ा ऐलान किया है. अगर आप भी कार्डधारक हैं तो आपको खाने के पैकेट राज्य सरकार की ओर से दिए जाएंगे

100 रुपये में मिलेगा खाने का पैकेट

मुंबई. महाराष्ट्र मंत्रिमंडल (Maharashtra cabinet) ने मंगलवार को राज्य में राशन कार्डधारकों को आगामी दिवाली त्योहार (Diwali Gift) के लिए 100 रुपये में किराने का सामान देने का फैसला किया. इस सौ रुपये के पैकेट में एक किलो रवा (सूजी), मूंगफली, खाद्य तेल और पीली दाल होगी. यह प्रस्ताव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा लाया गया था. मंत्रिमंडल के बयान में कहा गया है, ”राज्य में ऐसे 1.70 करोड़ परिवार या सात करोड़ लोग हैं, जिनके पास राशन कार्ड की सुविधा है. वे राज्य द्वारा संचालित राशन की दुकानों से खाद्यान्न खरीदने के पात्र हैं.’

नाश्ता और मिठाई बनाने में मिलेगी मदद

इसमें कहा गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के मुताबिक, देश की खुदरा मुद्रास्फीति दर सात फीसदी है. इस पृष्ठभूमि में राज्य सरकार के सब्सिडी दरों पर आवश्यक वस्तुओं की पेशकश करने के फैसले से आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को किराने के सामान के पैकेज का उपयोग करके दिवाली के लिए नाश्ता और मिठाई तैयार करने में मदद मिलेगी.

PM Garib Kalyan Ann yojana Free Ration नहीं मिलने पर ऑनलाइन करें कंप्लेंट, खत्म होगी परेशानी, सरकार तुरंत एक्शन ले रही

PM Garib Kalyan Ann yojana उत्तर प्रदेश सरकार अगर आपको राशन नहीं मिल रहा है या आपको राशन से संबंधित कोई भी शिकायत (Ration Related Complaint Number) हैं तो आप यहां शिकायत दर्ज कर सकते हैं। सरकार ने सभी राज्यों के हिसाब से टोल फ्री नंबर और ई-मेल आईडी दिए हैं: जिस पर आप अपनी सभी समस्या का समाधान पा सकते है

कैसे कर सकते हैं शिकायत

Free Ration Card Yojana गरीबों को भूखमरी के संकट से बचाने के लिए सरकार ने राशन कार्ड (Ration Card) के जरिए कम कीमत में गेहूं, चावल, तेल जैसे जरूरी राशन के सामान कम रेट पर उपलब्ध कराती है। कोरोना काल के बाद से सरकार ने फ्री राशन देना शुरू कर दिया था। सरकार प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PM Garib Kalyan Ann yojana) के तहत देशभर में अभी फ्री राशन की योजना को चलाया है इस योजना का लाभ उठाने के लिए बस आपके पास राशन कार्ड होना अनिवार्य है

डीलरों के खिलाफ कर सकते हैं शिकायत

ऐसे में अगर आपको राशन नहीं मिल रहा है या आपको राशन से संबंधित कोई शिकायत (Ration Related Complaint Number) हैं तो आप यहां शिकायत कर सकते हैं। सरकार ने सभी राज्यों के हिसाब से टोल फ्री नंबर और ई-मेल आईडी जारी की हुई हैं। राशन नहीं मिलने की स्थिति में आप ऑनलाइन शिकायत वेबसाइट और ई-मेल से भी कर सकते हैं।

दिल्ली में रहने वाले इस Toll-Free Number पर करें शिकायत

दिल्ली सरकार की तरफ से राशन नहीं मिलने की शिकायत करने के लिए आप टोल फ्री नंबर का यूज कर सकते हैं। टोल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज करने के लिए आपको (1800110841) पर फोन करना होगा। साथ ही ऑफिस एड्रेस पर जाकर भी शिकायत की जा सकती है।

E-Mail के जरिए ऐसे करें शिकायत

दिल्ली के राशन कार्ड होल्डर को E-Mail से शिकायत करने के लिए [email protected] पर मेल ड्रॉप करना होगा। दिल्ली सरकार द्वारा दी जा रही सुविधा का लाभ प्राप्त करने के लिए ही इस पर शिकायत की जा सकती है। साथ ही ऑफिशियल वेबसाइट (http://fs.delhigovt.nic.in) पर भी शिकायत हो सकती है।

उत्तर प्रदेश से लेकर झारखंड तक ये रहे ये सभी राज्यों के हेल्पलाइन नंबर


दिल्ली – 1800110841
जम्मू – 18001807106
कश्मीर – 18001807011
अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह – 18003433197
चण्डीगढ़ – 18001802068
दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव – 18002334004
लक्षद्वीप – 18004253186
पुडुचेरी – 18004251082
पंजाब – 180030061313
राजस्थान – 18001806127
गुजरात- 18002335500
मध्य प्रदेश- 07552441675, Helpdesk No.: 1967 / 181
उत्तर प्रदेश- 18001800150
उत्तराखंड – 18001802000, 18001804188
पश्चिम बंगाल – 18003455505
कर्नाटक- 18004259339
केरल- 18004251550
मणिपुर- 18003453821
मेघालय- 18003453670
मिजोरम- 1860222222789, 18003453891
महाराष्ट्र- 1800224950
आंध्र प्रदेश – 18004252977
अरुणाचल प्रदेश – 03602244290
असम – 18003453611
बिहार- 18003456194
छ्त्तीसगढ़- 18002333663
गोवा- 18002330022
हरियाणा – 18001802087
हिमाचल प्रदेश – 18001808026
झारखंड – 18003456598, 1800-212-5512
नागालैंड- 18003453704, 18003453705
ओडिशा – 18003456724 / 6760
सिक्किम – 18003453236
तमिलनाडु – 18004255901
तेलंगाना – 180042500333
त्रिपुरा- 18003453665

इन डॉक्यूमेंट के बिना नहीं बन पाएगा राशन कार्ड

आईडी प्रूफ के तौर पर आप अपना आधार कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, हेल्थ कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस दे सकते हैं। इसके अलावा पैन कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, आय प्रमाण पत्र, पते के प्रमाण के तौर पर बिजली बिल, गैस कनेक्शन बुक, बैंक स्टेटमेंट या पासबुक, रेंटल एग्रीमेंट जैसे दस्तावेज भी लगते हैं।

MP Mukhyamantri Solar Pump Yojana लॉगिन प्रक्रिया, लाभ, उद्देश्य, विशेषता व पात्रता जाने मध्य प्रदेश 2022: ऑनलाइन आवेदन


MP Mukhyamantri Solar Pump Yojana लॉगिन प्रक्रिया, लाभ, उद्देश्य, विशेषता व पात्रता जाने मध्य प्रदेश 2022: ऑनलाइन आवेदन

Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP 2022 मध्य प्रदेश सोलर पंप योजना पंजीकरण प्रक्रिया और मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश का शुभारम्भ राज्य सरकार द्वारा किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए किया गया है जिससे की किसानो को सोलर पम्प प्राप्त करके आसानी से किसान अपने खेतो में सिचाई कर सकते है इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानो को खेत में सिचाई करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा सोलर पम्प वितरित किये (Solar pumps will be distributed by the Government of Madhya Pradesh to irrigate the farmers in the field ) जायेगे इस Mukhyamantri Solar Pump Yojana 2022 के तहत केंद्र सरकार व मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अधिकतम 90 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है ।इस योजना के तहत किसान सोलर पम्प प्राप्त करके अपने खेतो में आसानी से सिचाई कर सकते है ।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2022:

इस सोलर पम्प योजना के तहत मध्य प्रदेश राज्य के उन सभी किसानो को ये प्राथमिकता दी जायेगा जिनके यहाँ पर बिजली का कोई विकास नहीं है और जहाँ पर कृषि पम्पों हेतु स्थाई कनेक्शन नहीं है और जहाँ पर विद्युत कम्पनियों की वाणिज्यिक हानि अधिक है एवं ट्रान्सफार्मर हटा लिए गए हैं तथा जहाँ खेत की दूरी बिजली की लाईन से 300 मीटर से अधिक है या नदी ,बाँध के समीप ऐसे स्थान हो जहा पर पानी पर्याप्त मात्रा उपलब्ध हो, एवं फसलों के चयन के कारण जहाँ वाटर पंपिंग की आवश्यकता ज्यादा रहती हो । इस मध्य प्रदेश सोलर पम्प योजना 2022 के तहत डीज़ल पम्प को के स्थान पर सरकार द्वारा खेत की सिचाई के लिए सोलर पम्प लगाए (In place of diesel pump, solar pumps will be installed by the government for irrigation of the field.) जायेगे

(पंजीकरण) मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2022: मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना को कैबिनेट बैठक में मंजूरी

कैबिनेट की बैठक29 जून को आयोजित की गई थी। जिसमें कई अहम फैसले लिए गए थे। इस बैठक में मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश से संबंधित भी कुछ अहम फैसले लिए गए हैं। जो इस योजना के अंतर्गत सिंचाई के लिए सोलर पंप की स्थापना को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। वह सभी क्षेत्र जहां पर बिजली उपलब्ध नहीं है उन क्षेत्रों में सोलर पंप की स्थापना को प्राथमिकता प्रदान की जाएगी। इस बात की जानकारी मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा द्वारा प्रदान की गई है। वह सभी किसान जो Mukhyamantri Solar Pump Yojana का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इस योजना के अंतर्गत भारत शासन एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा अनुदान प्रदान किया जाएगा।

Madhya Pradesh Solar Pump मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना का विस्तार

Madhya Pradesh Solar Pump पर अनुदान का लाभ केवल इसी शर्त पर उठा सकेगा यदि किसान द्वारा खेत के खसरे या बटाकित खसरे पर भविष्य में किसी भी विद्युत पंप लगाए जाने पर अनुदान नहीं प्राप्त किया जाए। किसान को एक स्वप्रमाणिकरण भी जमा करना होगा। जिसमें यह घोषणा करनी होगी की किसान ने वर्तमान में उस खसरे या बटाकित खसरे की भूमि पर कोई भी विद्युत पंप संचालित या संयोजक नहीं किया है। यदि किसान ने उस खसरे या फिर बटाकित खसरे पर विद्युत पंप संचालित या संयोजित किया है तो इस स्थिति में यदि किसान उस पर मिले अनुदान को छोड़ देता है एवं बिजली के पंप को हटवा देता है तो किसान को सोलर पंप के लिए अनुदान प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना का विस्तार भी मार्च 2024 तक कर दिया गया है। जिससे कि कृषि क्षेत्र का विकास हो सके।और सभी क्षेत्रवासी किसानो को लाभ मिल सके

आइये जानते है एमपी मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना 2022 का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है कि राज्य के किसानो को डीज़ल पम्प की सहायता से खेतो में सिचाई की जाती है । जिससे किसानो के काफी खर्च भी होता है । डीजल के उपयोग से पम्प द्वारा सिंचाई करने से प्रदूषण भी काफी होता है इन सभी परशानियों से निपटने की लिए हमारी राज्य सरकार ने एमपी मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना 2022 की शुरू किया है ।इस योजना के तहत एमपी के किसानो को खेतो की सिचाई करने के लिए सोलर पम्प उपलब्ध कराना । इस Mukhyamantri Solar Pump Yojana के ज़रिये किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सब्सिडी दर पर सोलर पम्प उपलब्ध करवाना एवं राज्य में बागवानी की फसलों को बढ़ावा देना ।इन सोलर पम्प की सहायता से खेतो में सिचाई करने से पर्यावरण प्रदूषण कम करना और किसानो की आय में वृद्धि करना । राज्य विद्युत कंपनियों द्वारा बिजली की अस्थाई कनेक्शन को कम करना।

Mukhyamantri Solar Pump Yojana 2022 के लाभ

इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानो कोमुफ्त में सोलर पम्प प्रदान किये जायेगे ।
राज्य के जिन क्षेत्रो में उर्जा वितरण कंपनियों द्वारा बिजली के इंफ्रास्ट्रक्चर की व्यवस्था नहीं की जा सकी हो। जिसके कारण किसानों को सिंचाई हेतु बिजली के अस्थायी कनेक्शन की व्यवस्था करनी पड़ती हो। ऐसे स्थान के किसानो को इस मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2022 के तहत प्राथमिकता दी जाएगी ।
ऐसे ग्रामीण क्षेत्र जहाँ बिजली की पहुँच है किन्तु विधुत लाइन से कम से कम 300 मीटर की दूरी पर स्थित हो।उन्हें बीच इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा ।

नदी या बाँध के निकट के स्थान जहाँ फसलों के प्रकार के आधार पर सिंचाई हेतु पानी के पम्प की अधिक आवश्यकता होने के कारण बिजली की ज्यादा खपत होती हो।
Mukhyamantri Solar Pump Scheme 2022 का लाभ राज्य के सभी किसान उठा सकते है और सोलर पंप की मदद से आसानी से अपने खेतो में सिचाई कर सकते है ।

PM Modi Yojana 2022: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी योजना मध्य प्रदेश कर्ज माफी लिस्ट, जय किसान फसल ऋण माफी योजना

PM Modi Yojana 2022: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी योजना मध्य प्रदेश कर्ज माफी लिस्ट, जय किसान फसल ऋण माफी योजना ,

MP Kisan Karj Mafi List PDF at mpkrishi.mp.gov.in मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी ने किसानों के द्वारा लिए गए कर्ज की माफी के लिए जय किसान फसल ऋण माफी योजना शुरू की है। मुख्यमंत्री जी ने अपने पद की शपथ लेते ही इस मध्य प्रदेश कर्ज माफ़ी की फाइल पर हस्ताक्षर कर दिए थे। जय किसान फसल ऋण माफी योजना 2022 के तहत राज्य के किसानों को अपनी फसल के लिए लिए गए ऋण पर राज्य सरकार द्वारा छूट प्रदान की जाएगी। और जय किसान फसल ऋण माफी योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करे इस MP Karj Mafi List 2022 के तहत राज्य सरकार ने ₹200000 तक का किसानों का कर्ज माफ करने का आश्वासन दिया है। (The loan taken for the crop will be waived by the state government ) आज हम यहां आपको अपने इस लेख के माध्यम से मध्य प्रदेश कर्ज माफी लिस्ट से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। तो यदि आप भी मध्यप्रदेश राज्य 33 साल है और आपने भी अपनी फसलों के लिए कोई ऋण लिया था तो आपको एक बार मध्य प्रदेश कर्ज माफी योजना से जुड़ी यह जानकारी अवश्य देख लेनी चाहिए।

जय किसान फसल ऋण माफी योजना 2022

सरकार के शासनादेश के अनुसार मध्य प्रदेश की राष्ट्रीयकृत और सरकारी बैंको के अंतर्गत अल्पकालीन फसल ऋण के रूप में शासन द्वारा पात्रता के अनुसार पाए गए किसानो के 2 लाख रूपये की सीमा तक का दिनांक 31 मार्च 2018 की स्थिति में बकाया फसल कर्ज माफ़ किया जाता है | राज्य के जिन लोगो ने मध्य प्रदेश कर्ज माफी योजना के तहत अपनी फसल कर्ज माफ़ करवाने के लिए आवेदन कर सकते है और इस योजना का लाभ उठा सकते है | मध्य प्रदेश राज्य के जो भी लोग MP Karj Mafi List 2022 का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं वे अपनी फसल कर्ज माफ करवाने के लिए मध्य प्रदेश कर्ज माफी लिस्ट के तहत आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं

MP Karj Mafi List 2022 जय किसान फसल ऋण माफी योजना

मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों की तहसीलों में कृषि मंत्री श्री सचिन यादव जी ने अभियान के रूप में किसान सम्मेलन का आयोजन करके किसानों को कर्जमाफी प्रमाण पत्र वितरित किए हैं। किसानों को जय किसान फसल ऋण माफी योजना के पहले चरण में ₹50000 तक का लोन माफ करने का लाभ प्रदान किया जाएगा। MP Karj Mafi List 2022 के पहले चरण में 11000 किसानों का लोन माफ किया जाएगा। इन 11000 किसानों का कूल 36080 लाख रुपए का कृषि लोन माफ किया गया है। अब पिछले 2 महीनों से लोन माफी का दूसरा चरण चल रहा है। इस दूसरे चरण में सभी बैंकों के ₹100000 तक के लोन को माफ किया जाएगा। दूसरे चरण में तहसील के 3749 किसानों का 26 करोड 32 लाख रुपए का फसल ऋण माफ किया जा रहा है।

Madhya Pradesh Government ने इस जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत भरे गए Registration Form के किसान की कर्ज माफ़ी के लिए जिलेवार लाभार्थी किसानो (Beneficiary farmer ) की सूची राज्य सरकार द्वारा एमपी कृषि पोर्टल पर जारी कर दी गयी है | राज्य के जिन किसानो ने कर्ज माफ़ी के लिए आवेदन किये है वह किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग (Farmers Welfare and Agricultural Development Department ) की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन मध्य प्रदेश कर्ज माफी लिस्ट 2022 पीडीएफ प्रारूप (Online loan apology list pdf format ) में देख सकते है तथा पीडीएफ फाइल को डाउनलोड भी कर सकते है |

किसान कर्ज माफी नई अपडेट

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री श्री सचिन यादव ने अभियान के रूप में विभिन्न जिलों की तहसीलों में किसान सम्मलेन आयोजित कर किसानों को कर्ज माफी प्रमाण पत्र दिए | कर्ज माफ़ी योजना में किसानों को पहले चरण में 50 हजार रूपये का लोन माफ़ किया गया है | प्रथम चरण में जय किसान ऋण माफ़ी के अंतर्गत 11 हजार किसानों को लोन माफ़ किया गया है | उन किसानों का 36 हजार 80 लाख रूपये का कृषि लोन माफ़ किया गया है | अब लोन माफ़ी का दूसरा चरण पिछले 2 माह से चल रहा है | ऋण माफ़ी के दुसरे चरण में प्रदेश के सभी बैंकों के 1 लाख रुपये तक का लोन माफ़ किया जा रहा है | तहसील के किसानों का दुसरे चरण में 3,749 किसानों के 26 करोड़ 32 लाख रूपये के फसल ऋण माफ़ किये जा रहे हैं |

जय किसान फसल ऋण माफी योजना

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार के जाने के बार इस बार बीजेपी सरकार सत्ता में आयी है इस बार मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान जी मुख्यमंत्री बने है | बीजेपी के सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री शिव राज सिंह चौहान जी ने कहा है कि कमलनाथ ने किसानो के साथ छल किया है कमलनाथ ने पिछले वर्ष 60 हज़ार मी टन गेहू कि खरीदी की थी लेकिन इस बार 1 .30 लाख मी टन गेहू की खरीदी हुई है देश के किसानो की गेहू खरीदी में आगे भी कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी किसानो के गेहू का एक एक दाना सरकार खरीदेगी |

जय किसान फसल ऋण माफी योजना 2022 के लाभ

इस योजना के अंतर्गत सरकार डूबत कर्ज को माफ़ कर सकती है और नियमित कर्ज वाले किसानो को 25 हज़ार रूपये तक का प्रोत्साहन दिया जायेगा |
अगर किसी किसान ने एक से अधिक बैंक से ऋण लिया है तो सिर्फ इस योजना के अंतर्गत सहकारी बैंक से लिया गया ऋण को माफ़ किया जायेगा |
इस योजना के अंतर्गत सिर्फ किसानो द्वारा उनकी खेती हेतु कर्ज ही माफ़ किया जायेगा |

MP Karj Mafi Scheme 2022 के तहत किसानो का 2 लाख रूपये तक का ऋण माफ़ किया जायेगा |
इस योजना का लाभ मध्य प्रदेश के छोटे और सीमांत किसानो(Small and marginal farmers) को दिया जायेगा |
इसके आलावा करीबन 35 लाख किसानो का जून 2009 के बकायादार किसानो को भी इस योजना का लाभ मिलेगा |
इस मध्य प्रदेश जय किसान फसल ऋण माफी योजना 2022 के तहत उन किसानो का कर्ज नहीं माफ़ किया जायेगा जिन्होंने क्टर , कुआँ आदि जैसे उपकरणों के लिए लोन लिया था |

कर्ज माफ़ सिर्फ उन किसानो का लिया जाएगा जिनलोने लोन पंजीकरण नेशनल बैंक, कोरपोरेटिव बैंक, अथवा रीजनल रुरल बैंक के अंतर्गत हुआ हो |इस तरह कुल मिलाकर 41 लाख किसानों ने बैंक से लगभग 56 हजार करोड़ का लोन लिया हैं |

सर्वप्रथम आवेदक को किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा | ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
इस होम पेज पर आपको “जय किसान फसल ऋण माफ़ी योजना अंतर्गत लाभान्वित किसानो की सूची” का विकल्प दिखाई देगा | इस विकल्प पर क्लिक करे |